आपला विदर्भगोंदियाताज्या घडामोडी

गोंदिया जिले का नेतृत्व अयोध्या में कर रहे पोंगेझरा आश्रम के संत ज्ञानीदास महाराज

सालेकसा / मायकल मेश्राम

सालेकसा तहसील के तिरखेड़ी पोंगेझरा आश्रम के संत ज्ञानीदास महाराज को 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाले रामलला के अभिषेक समारोह में गोंदिया जिले से शामिल होने आमंत्रित किया गया। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से जुड़े दलजीत सिंह खालसा, लीलाराम बोपचे, रवि आचार्य, सुनील कोहड़े व देवेश मिश्रा ने सालेकसा तहसील के तिरखेड़ी आश्रम आकर उन्हें निमंत्रण दिया। जिले के एकमात्र संत ज्ञानीदास महाराज निमंत्रण पाकर बहुत प्रसन्न हुए और प्राणप्रतिष्ठा कार्यक्रम में भाग लेने वह अयोध्या पहुंच गए। श्रीराम मंदिर ट्रस्ट ने तीरखेड़ी आश्रम के संत ज्ञानीदास महाराज को निमंत्रण पत्र जारी किया। पत्रिका के ऊपर पैकेट पर शाश्वत निमंत्रण श्रीराम धाम अयोध्या लिखा था।अंदर निमंत्रण पत्र सुंदर सुनहरे अक्षरों में लिखा गया है और अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट का लोगो मुद्रित हैं। एक छोटे से लिफाफे में अक्षता है। लिफाफे पर लिखे नंबर से अतिथियों को अयोध्या में वाहन सुविधा मिलेगी. इसके साथ एक संकल्प पुस्तिका है जिसमें 1528 से 1984 तक राम जन्मभूमि आंदोलन से जुड़े कई व्यक्तियों का संक्षिप्त विवरण हैं। इसमें सबसे पहले देवरहा बाबा और आखिरी में अशोक सिंघल का नाम आता है। प्राण प्रतिष्ठा निमंत्रण पत्र में पहला नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हैं, उसके बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थयात्रा के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपालदास का नाम है। संत ज्ञानीदास महाराज एवं उनके साथ सालेकसा के प्रतिष्ठित नागरिक प्रभु लोहिया भी 22 जनवरी को अयोध्या में हो रहे प्रभु श्रीराम के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए अयोध्या पहुंच चुके हैं।

error: Content is protected !!